KALAM KA KAMAL

Just another weblog

156 Posts

1020 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4431 postid : 1229663

पावन रिश्तों का मान .....

Posted On: 16 Aug, 2016 कविता,Junction Forum,Special Days में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

रक्षाबंधन पर्व
——————

जागरण जंक्शन के सभी सम्मानींंय सदस्यों को राखी पर्व की अनेक हार्दिक शुभकामनायें !

1राखी

आया  ’राखी का त्योहार’

छाया बहन – भाई का प्यार

बहना भाई की आस लगाती

सुंदर राखी लेकर आती है

भैया  दूर   शहर में होते -

‘राखी’ डाक से पहुंचाती

सच है,पक्का रंग रिश्तों में -

रेशमी धागा ही बढ़ाता है .

सदियों से रीति – निभाता

जोड़े भाई – बहन का नाता

पावन रिश्तों का ये – मान -

‘रक्षाबंधन’ पर्व कराता है.

——

मीनाक्षी श्रीवास्तव

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Jitendra Mathur के द्वारा
August 22, 2016

बहुत सुंदर कविता है मीनाक्षी जी यह आपकी । छोटी किन्तु भावपूर्ण ।


topic of the week



latest from jagran